पर्यटन विभाग में आपका स्वागत है

अध्याय 4 / मैनुअल 3

कार्यों के निर्वहन के लिए नियम, विनियम, अनुदेश, मैनुअल और रिकार्ड

पर्यटन मंत्रालय द्वारा विभिन्‍न श्रेणी के पदों पर भर्ती के लिए भर्ती नियम बनाए गए हैं । सेवा संबंधी  अन्‍य मामलों के संबंध में मंत्रालय भारत सरकार के संबंधित नोडल मंत्रालयों/विभागों द्वारा जारी नियमों/अनुदेशों/आदेशों का अनुसरण करता है । कर्मचारियों की सेवा शर्तों को नियंत्रित करने वाले सभी नियमों का भी अनुसरण किया जा रहा है । इसके अतिरिक्‍त मंत्रालय में जहां आवश्‍यक हों योजना के विशिष्‍ट दिशानिर्देश भी हैं ।

 

विदेश स्‍थित भारतपर्यटन कार्यालयों में अधिकारियों के चयन और तैनाती के लिए विस्‍तृत दिशानिर्देश भी बनाए गए हैं जो नीचे दिए गए हैं ।

 

विदेशों में अधिकारियों की तैनाती के लिए दिशानिर्देश

 

मंत्री (पर्यटन और संस्‍कृति) के अनुमोदन से विदेश स्‍थित भारत पर्यटन कार्यालयों में अधिकारियों/कर्मचारियों की तैनाती हेतु चयन करने के लिए निम्‍नलिखित दिशानिर्देश हैं ।

 

Ø  प्रयोज्‍यता

 

ये दिशानिर्देश विदेश स्‍थित भारतपर्यटन कार्यालयों में विभिन्‍न श्रेणी के पदों पर तैनाती हेतु पर्यटन विभाग से अधिकारियों के चयन के लिए लागू होंगे जो नीचे वर्णित है :-

 

§  क्षेत्रीय निदेशक – वेतनमान 14300-400-18300 रू.

§  क्षेत्रीय निदेशक – वेतनमान 12000-375-16500 रू.

§  निदेशक – वेतनमान -  10000-325-15200.

§  सहायक निदेशक/प्रबंधक – वेतनमान  6500-200-10500 रू.

§  सहायक निदेशक (लेखा) – वेतनमान  6500-200-10500 रू.

§  निजी सचिव – वेतनमान 6500-200-10500 रू.

§  पर्यटक सूचना अधिकारी - वेतनमान 5000-8000 रू.

 

Ø  चयन की प्रक्रिया

 

सभी स्‍वीकृतियां प्राप्‍त होने में लगने वाले समय को देखते हुए चयन प्रक्रिया अग्रिम में, पद रिक्‍त होने से कम-से-कम एक वर्ष पूर्व शुरू हो जानी चाहिए । इससे पदों को समय पर भरने में सहायता मिलेगी ।

 

इन दिशानिर्देशों के आधार पर प्रशा। अनुभाग उन पात्र उम्‍मीदवारों का उनकी वरिष्‍ठता के क्रम में पैनल तैयार करेगा जो जोन ऑफ कंसिडरेशन में आते हैं, जिसमें उनकी पात्रता या अन्‍यथा भी प्रदर्शित होगी ।

 

इस पैनल को चयन समिति के अध्‍यक्ष के समक्ष रखा जाएगा जो उम्‍मीदवारों का मूल्‍यांकन करने हेतु साक्षात्‍कार संचालित करने और चयन के लिए अपनी सिफारिश प्रस्‍तुत करने हेतु, जिसमें तैनाती का स्‍थान विधिवत रूप से इंगित हो समिति की बैठक आहुत करने के लिए आवश्‍यक कदम उठाएंगे ।

 

अन्‍य बातों के अलावा चयन समिति विभिन्‍न पहलुओं पर विचार करेगी जिसमें प्रबंधकीय योग्‍यता, सेवा रिकार्ड; मौखिक और लिखित संप्रेषण कौशल, भारतीय पर्यटन उत्‍पाद का ज्ञान, वैश्‍विक पर्यटन परिदृश्‍य का ज्ञान, व्‍यक्‍तित्‍व, स्‍वास्‍थ्‍य, विदेशी भाषा का ज्ञान आदि शामिल हें । भारत में भारत पर्यटन कार्यालयों में फील्‍ड अनुभव को समुचित प्राथमिकता दी जाएगी । पर्यटन प्रबंधन/अध्‍ययन, जन संचार, विपणन प्रबंधन, जन संपर्क, वित्‍तीय प्रबंध, सूचना प्रौद्योगिकी आदि जैसी उपयोगी प्रोफेशनल योग्‍यताओं को अतिरिक्‍त तरजीह दी जाएगी । इसी प्रकार समारोह, प्रदर्शनियां/समागम आयोजित करने में अनुभव रखने के लिए समुचित तरजीह दी जाएगी । प्रशासकीय और वित्‍तीय नियमों और प्रक्रिया के ज्ञान को तरजीह दी जाएगी । ऐसे पात्र अधिकारियों पर समुचित विचार किया जाएगा जिनकी विदेश में कभी तैनाती नहीं हुई है । अन्‍य बातें समान होने पर, वरिष्‍ठता को वरीयता दी जाएगी । तथापि, वैश्‍विक पर्यटन बाजार के स्‍पर्द्धी स्‍वरूप को देखते हुए चयन समिति का उद्देश्‍य उपलब्‍ध पैनल में से श्रेष्‍ठ और सर्वाधिक गुणवान अधिकारियों का चयन करना होगा ।

 

चयन समिति का अध्‍यक्ष समिति की सिफारिशों को माननीय मंत्री का अनुमोदन प्राप्‍त करने के लिए सीधे अगले उच्‍च प्रशासनिक अधिकारी को प्रस्‍तुत करेगा ।

 

चयन समिति भविष्‍य में किसी मांग को पूरा करने के लिए इतनी ही रिक्‍तियों की एक प्रतीक्षा सूची भी तैयार करेगी ।

उम्‍मीदवार की पात्रता या अन्‍यथा निर्धारित करने के लिए महत्‍वपूर्ण तारीख अंतिम रिक्‍ति होने की तारीख को निर्धारित की जाएगी, जिसके लिए विशेष साक्षात्‍कार आयोजित किया जा रहा है । तथापि सेवानिवृत्‍ति के लिए शेष न्‍यूनतम सेवा की शर्त का निर्धारित करने की महत्‍वपूर्ण तिथि की गणना संबंधित साक्षात्‍कार की प्रथम रिक्‍ति की तिथि से की जाएगी ।

 

Ø  चयन समिति का गठन

चयन समिति में निम्‍नलिखित सदस्‍य शामिल होंगे

क्षेत्रीय निदेशक और निदेशक के पद के लिए

·         सचिव (पर्यटन)-महानिदेशक (पर्यटन) के रूप में – अध्‍यक्ष

·         संयुक्‍त सचिव (पर्यटन)

·         वित्‍त सलाहकार (पर्यटन)

·         अपर महानिदेशक (पर्यटन)

 

सहायक निदेशक/प्रबंधक, सहायक निदेशक (लेखा), निजी सचिव और पर्यटक सूचना अधिकारी के पद के लिए

 

·         अपर महानिदेशक (पर्यटन) – अध्‍यक्ष

·         सचिवालय में निदेशक/उप सचिव, जो प्रशासन का कार्य देखते हों

·         सचिवालय में अन्‍य निदेशक / उप सचिव

 

Ø  पात्रता मानदंड

 

दिशानिर्देशों में उल्‍लिखित अन्‍य शर्तों की पूर्ति के अध्‍यधीन, पर्यटन मंत्रालय के सभी अधिकारी (पर्यटन महानिदेशालय सहित) क्षेत्रीय निदेशक/निदेशक/सहायक निदेशक/निजी सचिव/पर्यटक सूचना अधिकारी, जैसा भी मामला हो, विदेश में तैनाती के किए विचार किए जाने हेतु पात्र       होंगे । एकमात्र अपवाद वे कर्मचारी होंगे जिन्‍होंने एसीपी का लाभ उठाया है । एसीपी में अगला वेतनमान मिल जाता है परंतु वास्‍तविक पदोन्‍नति नहीं होती । इसलिए, वे कर्मचारी जिन्‍होंने एसीपी का लाभ लिया है वे केवल अपने मूल ग्रेड में विदेश में तैनाती के पात्र होंगे ।

 

विदेशों में तैनाती के लिए न्‍यूनतम अनुभव की शर्त निम्‍नानुसार होगी :-

 

14-300-18,300 रू. के वेतनमान में क्षेत्रीय निदेशक के पद के लिए (संयुक्‍त महानिदेशक)  

 

संयुक्‍त महानिदेशक जो विदेश में तैनाती के लिए सामान्‍य अर्हता शर्तों, यथा एसीआर ग्रेडिंग सतर्कता/अनुशासनात्‍मक मंजूरी को पूरा करते हैं, पर विचार किया जाएगा ।

 

12,000-16,500 रू. के वेतनमान में क्षेत्रीय निदेशक के पद के लिए

 

मुख्‍यालय में उप महानिदेशक और भारत में फील्‍ड कार्यालयों में क्षेत्रीय निदेशक जिन्‍होंने डीडीजी/आरडी के रूप में न्‍यूनतम एक वर्ष की सेवा की हो ।

10,000-15,500 रू. के वेतनमान में निदेशक के पद के लिए

 

मुख्‍यालय में सहायक महानिदेशक और क्षेत्र कार्यालयों में निदेशक, जिन्‍होंने सहायक महानिदेशक/निदेशक के रूप में न्‍यूनतम एक वर्ष की सेवा की हो ।

 

6500-10,500 रू. के वेतनमान में सहायक निदेशक/प्रबंधक के पद के लिए

 

मुख्‍यालय में सहायक निदेशक और क्षेत्र कार्यालयों में सहायक निदेशक/प्रबंधक जिन्‍होंने सहायक निदेशक/प्रबंधक के ग्रेड में दो वर्षों की सेवा की हो ।

 

6500-10,500 रू. के वेतनमान में निजी सचिव के पद के लिए

 

पर्यटन मंत्रालय के निजी सचिव जिन्‍हें निजी सचिव के रूप में दो वर्षों का अनुभव हो, पात्र  होंगे । तथापि, उपयुक्‍त निजी सचिव उपलब्‍ध नहीं होने पर, पांच वर्षों के अनुभव वाले 5500-9000 रू. के वेतनमान वाले वरि. आशुलिपिकों पर विचार किया जाएगा ।

 

6500-10,500 रू. के वेतनमान में सहायक निदेशक (लेखा) के पद के लिए

 

पर्यटन महानिदेशालय के सहायक निदेशक, जिन्‍हें डीडीओ/लेखा कार्य का दो वर्षों का अनुभव प्राप्‍त हो अथवा दो वर्षों का अनुभव रखने वाले सहायक निदेशक जिन्‍होंने आईएसटीएम अथवा किसी अन्‍य अनुमोदित संस्‍थान से कम से कम दो सप्‍ताहों का रोकड़ और लेखा का प्रशिक्षण लिया है, पर विचार किया जाएगा ।

 

(निजी सचिव और सहायक निदेशक (लेखा) की पात्रता संबंधी अन्‍य शर्तें वहीं होंगी जो अन्य ग्रेडों के लिए हैं)

 

सूचना सहायक/पर्यटक सूचना अधिकारी (5000-8000 रू. का वेतनमान) के पद के लिए

 

पर्यटक सूचना अधिकारी के लिए सूचना सहायक/पर्यटक सूचना अधिकारी के रूप में न्‍यूनतम चार वर्षों की सेवा अपेक्षित होगी ।

 

नोट -। : मद (क) से (छ) में उल्‍लिखित न्‍यूनतम सेवा में वेतनमान/ग्रेड में तदर्थ सेवा भी शामिल होगी ।

 

नोट - ।। : पर्यटन मंत्रालय में प्रतिनियुक्‍त अधिकारियों के पर्यटन विभाग में डीडीजी और सहायक डीजी के रूप में न्‍यूनतम एक वर्ष की सेवा और सहायक निदेशक के ग्रेड में दो वर्षों की सेवा उन्‍हें विदेश में तैनाती के लिए विचार किए जाने के लिए अपेक्षित होगी ।

 

विदेश में तैनाती के लिए प्रत्‍यावर्तन मांगने संबंधी विकल्‍प की अनुमति नहीं दी जाएगी । यदि कोई अधिकारी चाहता है कि अपने मूल पद/ग्रेड में विदेश में तैनाती के लिए उस पर विचार किया जाए तो उसे तदर्थ आधार पर अगले उच्च ग्रेड में पदोन्‍नति को स्‍वीकार नहीं करना चाहिए और इस तरह उस पर एक वर्ष की अवधि तक अगले उच्च ग्रेड में पदोन्‍नति के लिए विचार नहीं किया जाएगा ।

 

यदि कोई अधिकारी साक्षात्‍कार से पहले गत एक वर्ष के दौरान अधिकांश समय निरंतर लम्‍बी छुट्टी पर रहा है तो उस पर विदेश में तैनाती के लिए विचार नहीं किया जाएगा ।

 

डीडीजी (आरडी) और सहायक महानिदेशक (निदेशक) के लिए कुलिंग ऑफ अवधि 2 वर्ष होगी और अन्‍य सभी ग्रेडों के लिए कुलिंग ऑफ अवधि 3 वर्ष होगी ।

 

उम्‍मीदवार जिनके विरूद्ध अनुशासनिक/सतर्कता मामले लंबित है और जिनकी समग्र सेवा रिकार्ड अच्‍छासे कम है वे पात्र नहीं होंगे ।

 

जिन अधिकारियों की सेवा/निवृत्‍ति में साढ़े तीन साल से कम की सेवा शेष है वे सभी ग्रेडों में विदेश में तैनाती के पात्र नहीं होंगे ।

 

Ø  कार्यकाल : विदेश में तैनाती का कार्यकाल सभी श्रेणियों के पदो के लिए तीन वर्ष होगी । तथापि, पर्यटन विभाग प्रशासनिक आधारों पर अधिकतम 6 महीनों का विस्‍तार दे सकता                 है ।

Ø  छूट : उपर्युक्‍त दिशानिर्देशों में कोई भी छूट केवल प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से दी जाएगी ।

Ø  पर्यटन मंत्रालय के पास बिना कोई कारण बताए जनहित में विदेश में तैनात किसी अधिकारी को वापस बुलाने और उसके कार्यकाल में कटौती करने का अधिकार सुरक्षित है ।

 

इसे पर्यटन मंत्रालय द्वारा समय-समय पर जारी पिछले सभी दिशानिर्देशों के अधिक्रमण में जारी किया जाता है ।

Top